Digital Seva India के बारे मे जानकारी

internet 91

Digital Seva India के बारे मे

बदलते दौर का बदलता भारत और उसके बाद Digital india विकास के इस मार्ग पर तेजी से हो रहे बदलाव मे भारत ने संसार के सामने अपनी अलग पचहान बना ली है इसका मुख्य कारण यह है की भारत मे पिछले 3 सालो मे हो रहे डिजिटल बिकास का। आज मै भारत की Digital Seva और उसके कार्य प्रणाली के बारे मे चर्चा करूंगा जो आपके लिए उपयोगी होने के साथ साथ समय की भी मांग है।

MyGov

26 july 2014 को भारत के माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और किसी और के द्वारा MyGov Digital Seva का सुरुवात किया गया एक Digital india का programme है।

यह एक unique path तोड़ने वाली initiative programme है जिसमे बड़े पैमाने पर आम नागरिकों को शामिल कर सके।

यह भारत सरकार की अपनी तरह की एक अनूठी पहल है। MyGov के इस पहल के तहत भारत सरकार सामाजिक और आर्थिक परिवर्तन के लिए अपना योगदान देती है जो आम नागरिकों और बिशेषज्ञो के अंतिम लक्ष्यो के साथ अपना योगदान देने मे समर्पित है।

इस programme के तहत नीतिगत और आम नागरिकों के स्वस्थ बिचारो का आदान प्रदान का उपयुक्त interface है जो online plateform है जो आम नागरिकों को सरकार से जोड़े रखना और सरकार के करीब लाने मे काम करता है।

MyGov Digital Seva ऐसा ऑनलाइन platform है जहां पर महत्वपूर्ण नीतिगत मुद्दो और शासन पर सरकार और आम जनता के बीच आपसी ताल मेल को बनाए रखता है जिसके अंतर्गत स्वछ गंगा , बालिका सिक्षा , कौशल विकास और स्वस्थ भारत जैसे कार्यक्रम शामिल है।

MyGov का प्लैटफ़ार्म आज देश का महत्वपूर्ण अंग बन चुका है जो देश की नीति और निर्णय की प्रक्रिया मे पूर्णा रूप से अपना योगदान दे रहा है। जहां पर देश की जनता देश की शासन की प्रक्रिया मे आवाज उठाने मे सक्षम है। और भारतीय नागरिकों के नीति निर्माण का आधार बन बन रहा है।

इस कार्यक्रम के योग्य माध्यम के अंतर्गत MyGov पूर्ण रूप से कार्यान्वयन भी कर रहा है। इस programme के द्वारा की गई परिवर्तन और इस programme की महत्व को देखते हुए इस के सहभागी अपने अनुभव और अधिक उन्नत करने के लिए लगातार अपना उन्नत बिचारों से इस पर कार्य कर रहे है।

MyGov Digital Seva की प्रमुख बिशेषता यह है कि यह विविद शासन और सरकार के सार्वजनिक हितो के मुद्दो के आधार पर चर्चा , कार्य ,वार्ता और मतदान और इससे संबन्धित ब्लॉग कार्य करती है।

आज देश भर मे इस programme के उपयोग करता 1. 80 मिलियन से ज्यादा है जो अपने उच्च बिचारो कि चर्चा करते है और अपना महत्वपूर्ण योगदान देते है साथ ही इसके बिभिन्न कार्यक्रमों मे भी भाग लेकर आम जनता की राय और उनके बिचारों का समर्थन करते है।

इसके अलावा इस programme के अंतर्गत आने वाली बिषय पर सरकार को प्रति सप्ताह 10,000 से अधिक सुझाव मिलते है जिस पर भारत सरकार इनको एक महत्वपूर्ण सुझावों के रूप मे सुरक्षित रखती है और उन्हे कार्यवाई के अजेंडे मे परिवर्तित कर के इस पर काम भी करती है।

यह भारत की एक प्रभावशाली कार्यक्रम की मात्र एक सुरुवात है भविष्य इस कार्यक्रम के अंतर्गत और भी बहुत सारी योजनाएँ लाने के लिए सरकार निरंतर कार्य कर रही है।

Digital Seva

C S C ( Common Service Centre Scheme ) Digital Seva

CSC Digital Seva देश के ग्रामीण और दूरदराज़ के क्षेत्रो मे आम नागरिकों को B 2 C service की delivery के अलावा public utility service , social welfare schemes , स्वस्थ्य सेवा और आर्थिक सेवाओं के साथ साथ कृषि और शिक्षा के विकास और उसके जरूरी वितरण की प्रक्रिया की सुविधा प्रदान करती है।

Digital Seva के इस कार्यक्रम के अंतर्गत देश के विभिन्न क्षेत्रों के भौगोलिक , भाषा और उनके सांस्कृतिक विविदाता को मजबूत बनाने के लिए कार्य करती है। यह सेवा सरकार को सामाजिक , आर्थिक और डिजिटल रूप से सरकार के साथ मिल कर कार्य करती है।

CSC-Digital Seva मे समावेश सेवाएँ इस प्रकार है :>

1. Government to Citizen

G 2 C के इस Digital Seva के अंतर्गत सरकार अपने सरकारी संसाधनों की सेवाओ का लाभ आम नागरिकों तक पाहुचने का काम करती है ताकि सरकार और आम नागरिकों के बीच एक पारदर्शिता कायम हो सके। इस सेवा के माध्यम से सरकार द्वारा संचालित बिषय और कार्यक्रम इस प्रकार है।

1. Bharat Bill Pay

भारत बिल पे Digital Seva भारतीय रिजर्व बैंक की एक Digital प्रणाली है जो National Payment corporation Of India द्वारा संचालित होती है और इस प्लैटफ़ार्म के माध्यम से आप electricity ,mobile broadband , water bill , land line bill , DTH आदि के बिल का भुगतान बहुत ही सरल तरीके से कर सकते है साथ ही आपके द्वारा किया गया लेन देन की सुरक्षा और गोपिनियता को सुरक्षित रखती है।

भारत बिल पे भुगतान केन्द्रीय इकाई ( BBPCU )एक ऐसी सम्पूर्ण प्रणाली है जो इसकी प्रतिभागियो की परिचालन की तकनीकी मनको को लागू करने के साथ इस पर खरा उतारने मे सक्षम है।

बिल भुगतान के निर्धारित मानकों के अनुरूप कार्य करने वाली इकाइयां BBPOU ,BBPOS, BBPOUs यह सब भारत बिल पे के अधिकृत इकाइयां है जो बिलबोर्ड , एग्रीगटर , पेमेंट गेटवे और विभिन्न चनलों वितरण के माध्यम से बिल भुगतान को संभालने के साथ साथ ग्राहक और नेटवर्क के बीच के relation को सेट करने का काम करता है।

Bharat Bill Pay Digital Seva देश के दूर दराज के ग्रामीणों को अपने बिजली ,पानी ,गॅस , DTH , ब्रॉडबैंड , पॉस्टपेड बिलों के भुगतान करने की सुबिधा प्रदान करता है।

2 . Passport – Digital Seva

2014 मे भारतीय बिदेश मंत्रालय ने CSC और SPV के साथ partnership के साथ देश के ग्रामीण इलाको से passport सेवा की online प्रक्रिया सुरू किया। इस सेवा के माध्यम से देश के आम जनता पासपोर्ट की ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भर्ना उसे अपलोड करना साथ ही पासपोर्ट मे लगने वाला शुल्क का भुगतान करना शामिल है।

passport Digital Seva के माध्यम से देश भर मे अब तक 30 लाख से ज्यादा online passport आवेदन प्रस्तुत किए जा चुके है।

3 . PAN Card – Digital Seva

देश की वित्तीय सरकारी संस्थान यूटीआई इन्फ्रास्ट्रक्चर टेक्नोलॉजी एंड सर्विसेज लिमिटेड (यूटीआईआईटीएसएल) और नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (एनएसडीएल) और CSC ने आपसी सहायोग से मिलकर इसके इसको digitize करते हुए इसको पूर्ण रूप से ऑनलाइन कर दिया। इसके अंतर्गत पैन कार्ड की सभी प्रक्रिया आज के समय पूर्ण रूप से ऑनलाइन हो चुकी है। साल 2017-2018 के बीच 30 लाख से अधिक पैन कार्ड आवेदन फॉर्म प्रस्तुत किए जा चुके है।

4 . Swacch Bharat Abhiyan – Digital Seva

स्वछ भारत अभियान देश की अब तक की सबसे प्रभावशाली क्र्यक्रम मे से एक है इसकी सुरुवात साल 2014 मे देश की सड़कों , गाँव शहर स्वछ भारत अभियान के रूप मे किया गया एक ठोस कदम है। इस अभियान मे देश की ग्रामीण और शहरी विकास मंत्रालय ने CSC – Digital Seva के साथ भागीदारी करते हुए ऑनलाइन आवेदन पद्दती से घरेलू शौचालय का निर्माण का जिम्मा उठाया। सरकार की इस कार्यक्रम के माध्यम से अब तक देश भर मे 15 लाख से ज्यादा घरेलू शौचालयों के लिए CSC platform के माध्यम से आवेदन फॉर्म प्रस्तुत किए जा चुके है।

5. Pradhan Mantri Awas Yojana की Digital Seva

प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत शहरी गरीबो के लिए उनके आए स्रोत को ध्यान मे रखते हुये उनके रहने के लिए उचित आवास निर्माण करना है। इस योजना मे आम शहरी लोग कम पैसा खर्च कर के प्रधानमंत्री आवास योजना के द्वारा बनाई गई घर खरीद सकता है। भारत सरकार का यह अभियान एक महत्वपूर्ण अभियान मे से एक है जिसे देश की 500 शहरों तक पहुंचाने के लिए सरकार योजना के अनुरूप कार्य कर रही है।

नवम्बर 2016 मे प्रधानमंत्री आवास योजना , शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय और CSC के बीच एक समझौते के तहत ज्ञापन हस्ताक्षर किया गया था। इस सेवा का लाभ देश के सभी राज्य ,केंद्र शासित प्रदेश के नागरिक उठा सकते है देश मे अब तक ईद योजना का लाभ CSC नेटवर्क के माध्यम से 80 लाख से अधिक ऑनलाइन आवेदन प्रस्तुत किए जा चुके है और 40 लाख से अधिक नागरिक इस योजना का लाभ ले चुके है।

6 . FSSAI – Digital Seva

सबसे पहले बात करते है Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI) बारे मे। क्या है fssai ?

FSSAI का मुख्य काम होता है ग्राहको को जहरीली तथा नुकसानदायक खाध पदरहठों के सेवन से बचना। खाद्य पदार्थ का विनिर्माण और उसकी packaging के लिए fssai के मानक के अनुरूप ऐसी कोई भी चीज उस खाध्य पदार्थो मे न हो जिसके कारण स्वस्थ्य पर असर पड़े।

इसी प्रकार स्वस्थ्य को ध्यान मे मे रखते हुए भारत सरकार की स्वस्थ्य इकाई प्रणाली Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI) का गठन किया गया जो किसी भी खाध्य बस्तु मे किसी प्रकार की मिलावट को रोका जा सके। FSSAI की मानक पद्धति यह सुनिश्चित करता है कि ग्राहको को मिलावट रहित चिजे मिल रही या नहीं ।

FSSAI के नियम अंतर्गत किसी भी प्रकार खाध्य बस्तु का विनिर्माण करने से पहले संबन्धित ब्यक्ति जो खाध्य पदार्थ का विनिर्माण और उसे उपभोक्ताओ तक पहुंचाने का कार्य ,ब्यापार करना चाहता है तो सबसे पहले उसको CSC के अधिनियम अनुसार fssai का certificate लेना अनिवार्य है।

2016 मे CSC के माध्यम से FBO registration service की ऑनलाइन स्थापना किया गया जो FSSAI के ऑनलाइन प्रमाणपत्र की प्रक्रिया को सहज रूप से स्वीकृत मिलने का काम करता है। इस ऑनलाइन की प्रक्रिया मे अभीतक 2.5 लाख आवेदन प्रस्तुत किए जा चुके है।

7.Soil Health Card-मृदा स्वस्थ कार्ड – Digital Seva

सबसे पहले जानते है मृदा स्वस्थ कार्ड के बारे मे >

किसानो के हित और उनकी मेहनत का फल किसानो को मिल सके इसके लिए साल 2015 मे भारत सरकार द्वारा लाई गई एक स्कीम जिसे Soil Health Card के रूप मे Launch किया गया है इस कार्ड की मदद से किसानों के उनकी मिट्टी की क्वालिटी के अध्यन करके किसानों को अच्छी फसल उगाने मे उनकी सहायता मिल सके और किसानो के मेहनत के फल स्वरूप उनको मुनाफा मिले।

फसल के लिए सबसे जरूरी यह होती है कि मिट्टी फसल के योग्य है या नहीं। इसी बात को ध्यान मे रखते हुए 2015 मे Soil Health card – Digital Seva के योजना को सुरू करते हुए कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने इस सेवा को CSC के साथ मिलकर ऑनलाइन कार्य करने के लिए 2016 मे एक सम्झौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया। देश के विभिन्न राज्यों के किसानो को यह सुविधा प्रदान किया जा चुका है और अभिता देश के विभिन्न राज्यों के 5 लाख से ज्यादा किसान इस पर पंजीकरण कर चुके है।

8. e-District – Digital Seva

इस योजना के माध्यम से देश के प्रत्यक जिलों मे electronic पद्दती से आम नागरिकों को सेवा देना है जिसके अंतर्गत प्रमाण पत्र, लाइसेंस, राशन कार्ड, सामाजिक कल्याण पेंशन के संवितरण, आरटीआई के ऑनलाइन दाखिल-खारिज, भूमि पंजीकरण, भूमि रिकॉर्ड जैसी विभन्न सेवाए शामिल है। इस सेवा के माध्यम से पारंपरिक ढांचे वाले जिलों को internet से connected किया गया और बेहतर e- District योजना का निर्माण किया गया।

2016-17 मे 11 राज्य और 3 केंद्र शासित प्रदेश मे इस सेवा मे शामिल किया जा चुका था और अभीतक लगभग देश के सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश मे यह सेवा सुचारु रूप से कार्य कर रहा है।

9. Election Commission Services-Digital Sewa

The Election Commission of India ने अपने कार्य प्रणाली को बेहतर बनाने और अपने और परेशानी मुक्त चुनावों के लिए मतदाता सूची मे नामांकन कि सुधार और उसमे पाई जाने वाली कमियाँ और त्रुटियो के मध्यनजर इस योजना कि सुरुवात कि जिसमे CSC के साथ मिलकर कार्य करना सुरू किया और चुनावी पंजीकरणों को बेहतर बनाने के साथ देश के विभिन्न राज्यों के ERMS सेवा को Digital Seva poatal के साथ सम्मिलित किया गया।

देश के सभी राज्यों और प्रदेशों मे CSC के माध्यम से इस सेवा को पूर्ण रूप से संचालित किया जा रहा है साथ ही इसको और पारदर्शी और प्रभावशील बनाने पर भारत सरकार इस क्षेत्र पर कार्य भी कर रही है।

Business to Citizen-Digital Seva

संछिप्त जानकारी Business to citizen Digital Seva के बारे मे

इस सेवा के अंतर्गत business को सीधा नागरिकों तक जोड़ा गया है इसमे निम्न लिखित बिषय बस्तु शामिल है।

Mobile Recharge

कभी समय ऐसा भी था कि आप अपने मोबाइल को रीचार्ज करने के लिए दुकानों मे जान पड़ता था लेकिन अब समय बदलचुका है आप अपना मोबाइल रीचार्ज अपने ही मोबाइल से कर सकते है। हो सकता है कुछ लोग इस के बारे मे नहीं जानते हो लेकिन मै आपको बताना चाहता हु कि अब आप बड़े आसानी से अपना मोबाइल रीचार्ज का सकते है।

सभी दूरसंचार कंपनी अपने उपभोक्ताओ को मोबाइल रीचार्ज Digital Seva के माध्यम से सेवाये प्रदान कर रही है ताकि मोबाइल रीचार्ज ग्राहक खुद Digital Seva के माध्यम से कर सके।

मोबाइल रीचार्ज से अतिरिक्त इसमे और भी सेवाये है जो इस प्रकार है >

Mobile Bill payments

DTH Recharge

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 0 1 9 © ClickUrl