UPSC क्या है और कैसे काम करता है ( यूपीएससी )

govt jobs 38
UPSC

UPSC क्या है और कैसे काम करता है – full details Hindi मे

इस पोस्ट मे ये जानकारी है

हैलो दोस्तों , स्वागत है आप लोगों का मेरे इस ब्लॉग पर जहां पर मैं आप सभी को आपके queries के अनुसार अलग अलग जानकारी प्रदान करता हूँ। और आज इसे संदर्भ मे मैं आप लोगो के लिए एक different topic को लेकर आया हूँ जो मेरे बहुत से भाई बहन के भविष्य का दिशा निर्देश तय करने मे सहायता करेगा जो सभी UPSC के नाम से जानते है। आज मैं आप लोगो को UPSC के बारे मे वो सारी जानकारी देने का प्रयास करूंगा जो इंटरनेट मे आप सभी search करते होंगे जैसे :> UPSC क्या है , UPSC कैसे काम करता है , Upsc की तयारी कैसे करे , UPSC Exam कैसे TOP करे आदि ।

दोस्तों , UPSC के बारे मे बताने से पहले मैं आप लोगों को इस बात को जान लेना महत्वपूर्ण है कि UPSC ka full form क्या है और इसको हिन्दी मे क्या कहते है।

जैसे कि मैंने ऊपर बताया UPSC को हिन्दी मे संघ लोक सेवा आयोग कहेते है और इसको English मे Union Public Service Commission कहते है।

वैसे तो UPSC के बारे मे इंटरनेट पर ऐसी बहुत सारी जानकारी मौजूद है लेकिन मेरी यह जानकारी विशेष उन लोगो के लिए हिन्दी मे है जिनको अँग्रेजी भाषा को पढ़ने मे और समझने मे समस्या होती है।

 UPSC – संघ लोक सेवा आयोग की सुरुवात 

बात उस समय की है जब भारत मे अंग्रेजों का शासन था। उस समय civil servent को ईस्ट इंडिया कंपनी की ओर से नामांकित किया जाता था। ब्रिटिश सांसद के एक समिति के चयन के बाद लंदन की एक कॉलेज से प्रशिक्षण दे कर एक प्रतिनिधि को भारत भेजा गया।

UPSC

उस ब्रिटिश सांसद के एक रिपोर्ट के बाद ईस्ट इंडिया कंपनी की देख रेख मे भारत मे सन 1854 मे योग्यता के आधारित civil सेवा की सुरुवात की गई।

उस रिपोर्ट के आधार पर ईस्ट इंडिया कंपनी की भी एक योग्यता आधारित प्रणाली होनी चाहिए जो ईस्ट इंडिया कंपनी को प्रशासनिक कार्यप्रणाली को और बेहतर बना सके और इसी उद्यश्य से सन 1854 मे लंदन मे civil सेवा आयोग का स्थापना किया गया और सन 1855 मे इसके लिए प्रतियोगी परीक्षाएँ भी सुरू की गई।

आपको बता दू कि UPSC की सुरुवाती समय मे भारतीय सिविल सेवा का Exam केवल लंदन मे आयोजित किया जाता था और इसके लिए अधिकतम आयु 23 वर्ष और न्यूनतम आयु 18 वर्ष था।

उस समय UPSC का पाठ्यक्रम का डिज़ाइन यूरोपियन क्लासिक्स के आधार पर था जिसके कारण भारतियों को मुश्किल हो रहा था। 

सन 1864 मे पहली बार दो भारतीय  श्री सत्यन्द्र नाथ टैगोर और रवीद्र नाथ टैगोर इस परीक्षा को देने मे सफल हुये और 1867 मे 4 अन्य भारतीय भी इस परीक्षा मे सफल हुये।

सन 1922 मे भारतीय सिविल सेवा परीक्षा भारत मे भी होने लगी सबसे पहले इलाहाबाद मे और संघीय लोक सेवा आयोग के स्थापना के साथ बाद मे दिल्ली मे इसकी परीक्षाओं की सुरुवात हुई।

भारत के संबिधान से पूर्व यह संघीय लोक सेवा आयोग के नाम से जाना जाता था और 1950 भारत के संबिधान के उदघाटन के बात इसे संघ लोक सेवा आयोग के रूप मे जाना जाने लगा।

UPSC के द्वारा देश मे IAS / IPS और अन्य A और B श्रेणी के अधिकारियों के भर्ती और उनको नियुक्त किया जाता है।

UPSC कैसे काम करता है ? 

भारत के संबिधान के अनुच्छेद 320 के अंतर्गत UPSC कार्य करता है जिसमे आयोग और अंतर अलिया सम्मिलित है जिसे सिविल सेवाओं और पदों के भर्ती से संबन्धित सभी मामलो पर परामर्श दिया जाता है। UPSC जो कार्य करता है वो कुछ इस प्रकार है :>

  • संघ की सेवाओं मे नियुक्ति के लिए परीक्षाएँ आयोजित करना। 
  • interview के माध्यम से चयनित सीधे भर्ती करना 
  • पदोन्नति , प्रतिनियुक्ति , अवशोषण पर अधिकारियों की नियुक्ति करना 
  • सरकार के अंतर्गत विभिन्न सेवाओं और पदों के भर्ती नियमों का निर्धारण और संशोधन करना 
  • अलग अलग सिविल सेवाओं से संबन्धित अनुशासनात्मक मामलों को देखना 
  • भारत के राष्ट्रपति द्वारा आयोग को संदर्भित किसी भी मामले पर सरकार को सलाह देना 

यह भी पढे 

लेखपाल क्या होता है और क्या काम करता है

upsssc vdo कैसे बने

IPS की नौकरी की तयारी

2019 SSC आवेदन-भर्ती-Exam

 

UPSC syllabus category

  1. Civil service exam ( UPSC – CSE )
  2. Engineering Services Examination ( UPSC – ESC )
  3. Combined Defense Service Exam ( UPSC – CDSE )
  4. National Defense Exam ( NDE Exam )
  5. Indian Forest Service ( IFS Exam )

इसके अलावा आप UPSC के अंतर्गत सभी A और B श्रेणी के अन्य परीक्षाएँ मे भाग ले सकते है।

UPSC – CSE  exam pattern क्या है 

Preliminary Exam ( प्रारम्भिक परीक्षा )

Preliminary Exam ( प्रारम्भिक परीक्षा ) –  परीक्षा का यह चरण दो चरणो का होता जिसमे सामान्य अध्यन और civil services aptitude exam  ( सिविल सेवा योग्यता परीक्षा ) को दो चरणों मे देना होता है। और इसका प्रत्यक पेपर 200 अंकों का होता है जिसमे objective type के प्रश्नों के बारे मे पूछा जाता है और इसके लिए समय अवधि 4 घंटों का होता है।

UPSC द्वारा यह परीक्षा जून माह मे आयोजित किया जाता है 

UPSC प्रारम्भिक परीक्षा से संबन्धित महत्वपूर्ण और जरूरी बात यह है कि इसके result को final परीक्षा के साथ नहीं जोड़ा जाता है और न ही आप इसको पास किए बिना मुख्य परीक्षा मे भाग ले सकते है।  

मुख्य परीक्षा ( Main Exam )

मुख्य परीक्षा की अगर बात करे तो इस परीक्षा मे कुल 9 पपेर्स होते है और कम से कम 200 प्रश्न इसके Question paper मे मौजूद होते है जिनको सफलता पूर्वक पास करना होता है।

यह paper कुल 1750 अंकों का होता है और इसके लिए आपको इसके प्रत्यक papers के 3 घंटों का समय अवधि मिल जाता है।

पहला प्रश्न 

इसके  प्रथम Exam के लिए आप अपने सुविधा अनुसार भाषा को चयन कर सकते है क्योकि Upsc मुख्य परीक्षा के लिए आयोजित परीक्षा कार्यक्रम को 18 भाषाओं मे  दिया जा सकता है। पहला प्रश्न 300 अंकों का होता है जिसमे कमसेकम 30 प्रश्न होते है

NOTE-  इस papers के अंकों को final result मे नहीं जोड़ा जाता है। 

दूसरा प्रश्न 

यह प्रश्न केवल अँग्रेजी भाषा मे होता है।

यह paper कुल 300 अंकों का होता है।

इसमे कम से कम 30 प्रश्न होते है।

इसके अंकों को final result मे सम्मिलित नहीं किया जाता है।

तीसरा प्रश्न 

मुख्य परीक्षा का यह तीसरा प्रश्न निबंध से संबन्धित होता है जिसमे दो section होते है और प्रत्यक section से एक-एक subject पर निबंध लिखना होता है।

यह paper 250 अंकों का होता है और इसके अंकों को final result के साथ जोड़ा जाता है।

चौथा प्रश्न ,पाँचवाँ प्रश्न ,छठा प्रश्न , सातवाँ प्रश्न 

इसमे सम्मिलित सभी प्रश्न सामान्य ज्ञान से संबन्धित होते है जिसमे सामाजिक , आर्थिक इत्यादि से संबन्धित प्रश्नों का जवाब लिखना होता है।

इसके प्रत्यक प्रश्नों का अंक 250 का होता है।

इस प्रश्नों के आधार पर पुछे जाने वाले सवालों के माध्यम से आपकी सूझ बुझ और आपकी जानकारी और ज्ञान की परख ली जाती है।

 NOTE- इन सभी प्रश्नों के अंकों का परिणाम final Result के परिणाम के साथ जोड़ा जाता है।  

आठवाँ और नवां प्रश्न ( UPSC )

UPSC के यह दोनों papers optional subject पर आधारित होते है जिसमे आपको अपने रुचि के अनुसार subject चुनने का अवसर मिलता है।

इसके हर एक प्रश्न 250 अंको के होता है और इसके परिणाम को final result के साथ भी जोड़ा जाता है।

NOTE – इस परीक्षा को october month मे UPSC परीक्षा आयोग द्वारा आयोजित किया जाता है 

UPSC – CSE interview Exam 

परीक्षा की इस अंतिम चरण मे साक्षात्कार ( interview ) द्वारा तब लिया जाता है जब आप मुख्य परीक्षा को पास कर लेते है।

यह परीक्षा कुल 750 अंकों का होता है और इसमे अर्जित किए गए अंको को merit list मे जोड़ा जाता है

इस साक्षात्कार Exam को आप अपने मनपसंद भाषा मे दे सकते है। जैसे :> हिन्दी , अँग्रेजी ,राज्य मे बोली जाने वाली भाषा जैसे बांगला ,मराठी , तमिल

NOTE – साक्षात्कार Exam को UPSC द्वारा february month मे आयोजित किया जाता है। 

UPSC की तयारी कैसे करे 

यदि आप UPSC की तयारी कर रहे है अथवा इसकी तयारी के बारे मे सोच रहे है तो यह आर्टिक्ल आपकी हेल्प करेगा साथ ही इसमे बताए गए tips को आप बेफिक्र हो कर इस्तेमाल कर सकते है और अच्छे से UPSC की तयारी कर सकते है।

वैसे तो इंटरनेट पर इस तरह की कई सारी जानकारी मौजूद है पर इसका besics के बारे मे आपको अच्छे से जानकारी होना बहुत आवश्यक है।

मै आपको step by step इसके बारे मे बताने जा रहा हूँ।

1. UPSC syllabus की सारी जानकारी इकठ्ठा करे 

UPSC Exam Structure क्या है सबसे पहले इसके बारे मे समझना बहुत आवश्यक है क्योकि बिना इसको समझे आप इसकी तयारी नहीं कर पाएंगे। जो मेहनत आप कर रहे है उसका परिणाम अगर खराब हुआ तो इसमे नुकसान आपको ही होगा। इसके लिए आपका यह पहला step है की आप UPSC Syllabus के आरे मे न सिर्फ देखे वल्कि इससे जुड़ी basics point के बारे मे Review करे ताकि आपको इसकी अच्छी जानकारी हो जाए।

पिछले साल के UPSC exam papers को पढे और उस पर अभ्यास करे। उसके हिसाब से आप आगे की तयारी कर सकते है इससे आपको जरूर फायदा मिलेगा।

2 . Newspaper पढ़ने की habit बनाए 

आप मे से बहुत लोगों को यह लगता होगा कि newspaper time pass के लिए पढ़ा जाता है लेकिन असल मे newspaper पढ़ने से कितना फायदा होता है इसको सायद आप नहीं जानते है।

Newspaper पढ़ने से आपका मानसिक विकास होने के साथ साथ आपका बौद्दिक विकास भी होता है क्योकि अखवार मे समाचारों का संग्रह होता है जिसका उपयोग आप आर्थिक ,सामाजिक राजनीतिक मुद्दों के लिए कर सकते है।

वजह यही है की newspaper पढ़ने की आदत से आपका बौद्दिक विकास होगा और UPSC Exam मे पुछे जाने वाली प्रश्नों को हल करने मे मदद मिलेगी।

3 . Books पढ़ने की आदत डाले  

किताबें पढ़ना एक अछि आदत मे से एक है। संसार मे ऐसी बहुत सारे books है जो महान लोगो के द्वारा लिखा गया है। लेकिन यहाँ मैं UPSC से related information दे रहा हूँ तो मैं बात करूंगा कि UPSC के लिए उपयोगी books कौन सी होंगी।

इसके लिए आप NCERT के बुक्स पढ़ सकते है NCERT कि books आपको UPSC के Exam के लिए सबसे best option मे से एक होगा क्योकि NCERT की social science की books आपको जरूर पढ़नी चाहिए। UPSC exam मे पुछे जाने वाले प्रश्न ज़्यादातर social sciense से संबन्धित होते है। social science से संबन्धित NCERT की बुक्स को पढ़ कर आप एक मजबूत base तयार कर सकते है।

Optional Subject को Best option के लिए चुने 

आज कल collage के studient अपने पढ़ाई के दौरान UPSC की तयारी कर रहे होते है ऐसे मे उनके लिए मेरा यही सुझाव है कि उनको UPSC के syllabus के हिसाब से उनको अभी से तयारी सुरू कर देनी चाहिए।

इसके लिए उनको optional subject कि तयारी को base बनाकर UPSC कि तयारी करना उचित होगा ऐसा मै समझता हूँ। ऐसा करेंगे तो आप उन सभी से आगे निकल सकते है जो UPSC की तयारी कर रहे है।

Famous Writer की Books को पढ़ने की आदत डाले 

UPSC Exam के लिए आपको सामाजिक , आर्थिक , राजनीतिक और भारत के इतिहास से संबन्धित famous writer के books को जरूर पढ़ना चाहिए और सामान्य ज्ञान की books को भी जरूर पढ़नी चाहिए इससे आपको UPSC के Exam मे पुछे जाने वाले प्रश्न जो सामान्य ज्ञान , राजनीतिक , आर्थिक और सामाजिक मुद्दो पर आधारित होते है उनको हल करने मे मदद मिलेगी क्योकि  पढ़ेगा इंडिया तो बढ़ेगा इंडिया।

Coaching Join करे 

आज हमारे देश मे ऐसे बहुत सारे coaching सेंटर और Institute है जहां पर आप UPSC की परीक्षा से संबन्धित Coaching ले सकते है।

अच्छे Coaching institute को जॉइन कर सकते है जहां पर अच्छे से UPSC के बारे मे बताया और सिखया जाता है।

Coaching institute मे आपको सीखने के लिए सही और अच्छा माहोल मिलेगा।

Institute की मदद से आपको news , information ,technology की update मिलता रहेगा।

इसके अलावा कई वर्षो की material और इकठ्ठा की गई जानकारी आपको coaching सेंटर से प्राप्त हो सकती है।

Internet की मदद ले 

यह बताने की जरूरत नहीं इंटरनेट मे क्या होता है। आजकल इंटरनेट की पहुँच शहर से लेकर गाँव तक व्यापक रूप मे हो चुका है। सरकारी नौकरी या फिर ऐसे किसी विषय से संबन्धित जानकारी के लिए इंटरनेट एक सबसे बड़ा platform है जहां से आप सारी जानकारी प्राप्त कर सकते है। इंटरनेट के माध्यम से UPSC से जुड़ी सभी information को पढ़ सकते , है सुन सकते है और video मे देख भी सकते है।

UPSC Exam कौन कौन दे सकता है ? 

शैक्षिक योग्यता 

  • आपकी graduation की पढ़ाई complete होनी चाहिए।
  • ऐसे studient जो अपने graduation के अंतिम वर्ष मे हो।

Age Limitation ( उम्र सीमा )

  • UPSC Exam मे भाग लेने के लिए आपकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष के बीच मे होनी चाहिए।
  • आप अपने जीवन काल मे मात्र 6 बार ही UPSC परीक्षा मे भाग ले सकते है।
  • SC / ST वर्ग के उम्मीदवारों को उम्र सीमा मे 5 वर्षों का छुट दिया गया है।
  • अन्य पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 3 वर्षों की छुट का प्रावधान है।

UPSC  services catogary list हिन्दी 

1 . भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS)

2 . भारतीय पुलिस सेवा (IPS)

केंद्रीय सेवाएं (ग्रुप ए) Center Services Group A (UPSC) 

  •  विदेश सेवा
  •  डाक और दूरसंचार लेखा और वित्त सेवा
  • लेखा परीक्षा और लेखा सेवा
  •  सिविल लेखा सेवा
  •  कॉर्पोरेट कानून सेवा
  •  रक्षा लेखा सेवा
  •  रक्षा संपदा सेवा
  • सूचना सेवा
  •  आयुध कारखानों सेवा
  • इंडिया पोस्ट
  •  रेलवे लेखा सेवा
  • कार्मिक सेवा भारत railway
  • रेलवे यातायात सेवा
  • भारतीय राजस्व सेवा
  • भारतीय व्यापार सेवा
  • रेलवे सुरक्षा बल

ग्रुप बी सेवाएँ Group B Services (UPSC)

  • सशस्त्र बल मुख्यालय सिविल सेवा
  • दिल्ली, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह सिविल सेवा
  • दिल्ली, अंडमान और निकोबार द्वीप पुलिस सेवा
  • पांडिचेरी सिविल सर्विस
  • पांडिचेरी पुलिस सेवा

अधिक जानकारी के लिए आप इसके official वैबसाइट पर [visit] करे

conclusion

आपने पढ़ा UPSC क्या होता है इसके बारे मे आपको यह आर्टिक्ल कैसा लगा कृपया कमेंट करे और मुझे बताए। इसके अलावा आपके पास इस आर्टिक्ल से संबन्धित कोई सुझाव या ऐसे किसी अन्य टॉपिक के बारे मे जानना चाहते है तो भी मुझे बताए। इस आर्टिक्ल को अधिक से अधिक share और लाइक करे और ऐसे ही टॉपिक के बारे मे जानने के लिए मुझसे जुड़े रहिए।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 0 1 9 © ClickUrl